मोदी की सबसे बड़ी योजना: अपनी पत्नी के नाम पर खुलवाइए खाता,सीधे आएंगे 50 लाख रुपए,जानिये कैसे

यह बात तो सभी जानते हैं कि अधिकतर लोग हमेशा से ही फ्यूचर प्लानिंग को लेकर चिन्तित रहते है। खासकर आज के दौर में बढ़ती हुई धोखाधड़ी के मामलों में हर कोई ऐसी जगह निवेश करना चाहता है जहाँ पर उसका धन सुरक्षित रहे, और शायद आप भी यही सोचते हैं कि हमें अपने आगे आने वाले भविष्य को सांवरने के लिये कुछ करना आवश्यक है। ऐसे में आपको तो पता ही होगा कि जबसे हमारे देश में मोदी सरकार का आगाज हुआ है कुछ हद तक कालाबाजारी, भू-मफिया जैसी कई समस्याओं पर लगाम लग गई है।

इसके अलावा आज के समय में भी एक ऐसी नई योजना निकली है जो आपके लिये बहुत ही लाभप्रद है। यह एक ऐसा विकल्प है जिसमें कि यदि आपकी पत्नी हाउसवाइफ हैं या नौकरी पेशा, तो दोनों ही स्थिति में आप अपनी वाइफ के नाम से पब्लिक प्राविडेंट फंड (PPF) अकाउंट खुलवा सकते हैं। आज के दौर में पीपीएफ अकाउंट को सबसे सुरक्षित निवेश माना जाता है और इस पर मिलने वाला रिटर्न भी गारेंटीड होता है।

ऐसी स्थिति में यदि आप निवेश का मन बना रहे हैं तो यह आपके लिए एक शानदार विकल्प साबित हो सकता है। आपकी वाइफ के पीपीएफ अकाउंट में अधिकतम 1.5 लाख रुपए तक जमा किए जा सकता है। यदि आप इतना ही फंड हर साल अपनी वाइफ के नाम से पीपीएफ अकाउंट में जमा करते हैं तो 15 साल के बाद इसके मैच्योर होने पर आपको तकरीबन 50 लाख रुपए का फंड मिलेगा।

उस समय यह फंड आपके बहुत काम आ सकता है। फिलहाल पीपीएफ अकाउंट पर सालाना 7.8 प्रतिशत रिटर्न मिलता है। इस हिसाब से यदि PPF अकाउंट में आप 15 साल तक सालाना 1.5 लाख रुपए की दर से जमा कराते हैं तो इस इंटरेस्ट रेट के हिसाब से आपका कुल फंड तकरीबन 43 लाख रुपए होगा। सरकार की तरफ से भी पीपीएफ योजना पर इंटरेस्ट रेट की हर तीन माह पर समीक्षा की जाती है।

आने वाले कुछ समय में पीपीएफ की ब्याज दरों पर भी कटौती हो सकती है और इसमें इजाफा भी होगा। ऐसे में यदि ब्याज दरों में इजाफा होता है तो आप पीपीएफ अकाउंट में 15 साल तक निवेश कर करीब 50 लाख रुपए के मालिक बन जायेंगे। पीपीएफ अकाउंट के नियमानुसार इसमें सालाना 1.5 लाख रुपए से ज्यादा जमा नहीं किया जा सकता है। इस योजना में एक और भी शर्त है जिसके तहत आप इसे ज्वाइंट अकाउंट के रूप में नहीं खोल सकते हैं।

इस खाते को आप अपनी पत्नी या फिर अपने बच्चों के नाम पर ही खोल सकते है और इस खाते को कम से कम 500रू सालाना से लेकर अधिकतम डेढ़ लाख रूपये सालाना तक जमा कर सकते है। इस खाते में 100 रू0 प्रति वार्षिक की दर से भी जमा किया जा सकता है। इस खाते को यदि सही ढंग से नहीं चलाया गया तो 50 रू0 का जुर्माना देना पड़ सकता है।

इस पीपीएफ अकाउंट में कंट्रीब्यूशन करने से सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इसमें जमा की गई रकम पर मिलने वाला ब्याज टैक्स मुक्त होता है। मतलब कि आपको अकाउंट के मैच्योर होने पर जो राशि मिलेगी उस पर आपको कोई भी टैक्स नहीं देना होगा। इस योजना से आपको अधिकतम लाभ भी मिलेगा. इस योजना में शामिल होने के लिए आप अपनी पास की बैकों में पता कर सकते है और सरकार की इस योजना से आप अपने आने वाले समय को सुरक्षित कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *